Home खानदेश समाचार मराठा आरक्षण पर केंद्र और राज्य सरकार राजनीती न करे – प्रदीप...

मराठा आरक्षण पर केंद्र और राज्य सरकार राजनीती न करे – प्रदीप गायके

487
0
SHARE

मराठा आरक्षण पर केंद्र और राज्य सरकार राजनीती न करे – प्रदीप गायके

जामनेर (नरेंद्र इंगले ): सुप्रीम कोर्ट द्वारा मराठा आरक्षण को स्थगित किए जाने के बाद महाराष्ट्र फिर एक बार आंदोलन की राह पर चल पड़ा है ! इस बार राज्य मे दो तरह के आंदोलन जोर पकड़ रहे है जिसमे केंद्र सरकार के कृषि संबंधी संशोधन कानून के विरोध मे किया जा रहा किसान आंदोलन भी अहम है ! मराठा समाज को फडणवीस सरकार के कार्यकाल मे मुंबई उच्च न्यायालय द्वारा प्रदान किया गया आरक्षण सुप्रीम कोर्ट ने स्थगित कर दिया है ! SEBC क्लास मे दिए गए इस आरक्षण को स्थगित किए जाने के बाद महाराष्ट्र मे मराठा समुदाय सड़को पर उतरने लगा है ! मराठा क्रांति ठोक मोर्चा के अगुवाई मे आज जामनेर तहसीलदार को निवेदन सौंपा गया ! जिसमे कहा गया है कि केंद्र और राज्य सरकार की नाकामी के कारण मराठा समाज को आरक्षण नही मिल रहा है ! तमिलनाडू , आंध्रप्रदेश , राजस्थान तेलंगाना इन राज्यो की आरक्षण पर सुनवाई कई बरसो से लंबित है बावजूद मराठा आरक्षण को स्थगित क्यो किया गया ? मामले मे आरक्षण के पक्ष मे मुकदमा लड़ने वाले वकील बार बार क्यो बदले गए ? अगर आरक्षण पर तत्काल फैसला नही लिया गया तो संगठन की ओर से जनप्रतिनिधियो की संचारबन्दी की जाएगी ! संगठन की अगुवाई करने वाले प्रदीप गायके ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार मराठा आरक्षण को लेकर किसी भी प्रकार की राजनीती न करे ! मौके पर प्रल्हाद बोरसे , दिलीप पाटील उपस्थित रहे ! निवेदन पर गणेश पाटील , विजय वराडे , रमेश पाटील , अजय पाटील , सचिन पाटील , किरण पाटील , अरुण पाटील , प्रशांत पाटील इनके हस्ताक्षर है !
वाघुर डैम ओवरफ्लो – जलगांव जिले का मुख्य डैम वाघुर मे 100 प्रतिशत जल भंडारण हो चुका है ! 12 TMC क्षमता के इस डैम से जलगांव , जामनेर समेत करीब 150 से अधिक गांवो को पेयजल आपूर्ति की जाती है ! डैम पर बनी लिफ्ट परियोजना का काम अंतिम चरण मे आकर फंड के अभाव से रुक गया है ! कांग , सुर और वाघुर इन नदियो पर बनाए गए इस डैम के ओवरफ्लो होने के बाद अतिरिक्त पानी छोड़ा जा रहा है !