Home जलगाँव जामनेर NCP ने किया गड्ढो मे पौधरोपण : करोड़ो के कामो मे...

जामनेर NCP ने किया गड्ढो मे पौधरोपण : करोड़ो के कामो मे लाखो का कमीशन ?

255
0
SHARE

जामनेर NCP ने किया गड्ढो मे पौधरोपण : करोड़ो के कामो मे लाखो का कमीशन ?

जामनेर ( नरेंद्र इंगले):  जामनेर शहर राष्ट्रवादी कांग्रेस ने नेता संजय गरुड़ के मार्गदर्शन मे उन सड़को के गड्ढो मे पौधरोपण किया है जिन सड़को को बनाए महज कुछ महीने हुए है . शहर अध्यक्ष जितेश पाटील ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर अनूठे तरीके से भ्रष्टाचार के खिलाफ विरोध दर्ज किया है . कुछ दिनो पहले जितेश ने आरोप किया था कि नगर परिषद के निर्माणाधीन कामो मे ठेकेदारो द्वारा अधिकारियो को कमीशन बहाली की जा रही है जिसके कारण जनता की जेब से टैक्स के जरिये सरकारी तिजोरी मे जमा पैसो से किए जा रहे सार्वजनिक विकास कार्यो मे गुणवत्ता का अभाव है और प्रचंड मात्रा मे भ्रष्टाचार किया जा रहा है . NCP के इस आंदोलन मे प्रभु झालटे , संतोष झालटे , इमरान शेख , उत्तम पाटिल , सागर पाटील , निखिल निकम आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे . विदित हो कि जामनेर नगर परिषद मे पूर्व मंत्री गिरीश महाजन के नेतृत्व मे भाजपा को संपूर्ण बहुमत प्राप्त है . सदन मे विपक्ष का एक भी सदस्य नही है . 2002 मे नगर परिषद बनने के बाद से अब तक के सभी चुनाव बुनियादी सुविधाओ को लेकर लड़े गए है . नगर परिषद ने स्कूल , अस्पताल , रोजगार से संबंधित किसी तरह का प्रोजेक्ट इस पर कोई काम नही किया . बस सड़को , नालियो को उखाड़कर टेंडर निकालकर ठेके देकर उनपर नई सड़के नालिया बनाई गई और सरकारी फंड को खर्च किया गया . एक खास ठेकेदार को यह सब काम दिए जाते है वह ठेकेदार सब ठेकेदार से काम करवाता है निगम बिना किसी जांच के आँखे मूंदकर बिल पास करवाती है इसी प्रकार से यह चेन चल रही है और विकास के नाम पर आम आदमी के पैसे की खुली लूट मचाई जा रही है . वर्तमान मे करोड़ो रुपयो के सड़क निर्माण के काम ठीक इसी तरह से चल रहे है वार्डो के जिम्मेदार नगरसेवक अर्थपूर्ण मौन धारण किए है . अगर 2002 से लेकर अब तक के तमाम फंड्स की श्वेतपत्रिका निकाली गई तो कौनसे अंक पर कितने जीरो गुणवत्तापूर्ण कार्यो पर और कितने कमीशन बहाली पर खर्च किए गए है इसकी सच्चाई शहर मे 8 करोड़ की लागत से बने फोरलेन प्रोजेक्ट की तरह अकल्पनीय और अभूतपूर्व होगी . पार्टी विशेष के ठेकेदारो और हितैशीयो के करोड़ो के आलीशान बंगलो को देखकर हर टैक्स पेयर्स शहरवासी की यह मांग है कि नगर परिषद की ओर से श्वेतपत्रिका प्रस्तुत की जाए .