Home खानदेश समाचार दिल्ली की सीमा पर गढ़ी किलो ने याद दिलाया नजीब खान का...

दिल्ली की सीमा पर गढ़ी किलो ने याद दिलाया नजीब खान का शासन – जयंत पाटील

255
0
SHARE

दिल्ली की सीमा पर गढ़ी किलो ने याद दिलाया नजीब खान का शासन – जयंत पाटील

जामनेर (नरेंद्र इंगले): 1771 मे जब महादजी शिंदे ने दिल्ली की ओर कूच की तब उन्हे रोकने के लिए दिल्ली के शासक नजीब खान ने सीमाओ पर किले गढ़ दी थी . आज मोदी सरकार ने उसी इतिहास को दोहराते हुए किसानो को दिल्ली आने से रोकने के लिए सड़को मे किले ठोक दी है ऐसा प्रहार NCP के प्रदेश अध्यक्ष तथा जलसंपदा मंत्री जयंत पाटील ने केंद्र सरकार पर किया है . राष्ट्रवादी परिवार संवाद यात्रा के दौरान जामनेर मे आयोजित संबोधन मे पाटील ने मोदी सरकार को किसान और मजदूर विरोधी करार दिया . आंदोलनजीवी का मतलब होता है कि आंदोलन कर जीवनयापन करने वाले लोग . मोदी जी ने किसानो को आंदोलनजीवी कहकर आजादी की लड़ाई मे शामिल तमाम शहीदो और सेनानियों समेत समूचे देश का अपमान किया है . पूर्व मंत्री गिरीश महाजन पर निशाना साधते हुए NCP नेता एकनाथ खडसे ने कहा की मंत्रिपद रहने के बावजूद जामनेर तहसिल क्षेत्र मे बीते पांच सालो मे विकास का कोई काम नही हुआ . क्षेत्र मे जितने भी जलबांधो का निर्माण हो सका है वह 1995 से 1999 के दौरान मेरे सिंचाई मंत्री रहते किया गया है . गद्दारो ने मेरी बेटी रोहिणी को विधानसभा चुनाव मे हराया है अब ऐसे सभी लोगो को सबक सिखाने का समय आ गया है . उन्होंने कहा की BHR घोटाले मे किसने किसके नाम पर कितनी जमीने खरीदी है यह सब कुछ जल्दी सामने आ जाएगा . सूबे की महाविकास आघाड़ी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी . पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर हमला करते खडसे ने कहा कि भाजपा से मेरा विधानसभा का टिकट काटकर “मै फिर वापिस लौटूंगा” यह कहने वाले अब स्वयम समाप्त हो गए है . मंच पर रुपाली चाकनकर , सक्षना सलगर , मेहबूब शेख , रोहिणी खडसे-खेवलकर , गुलाबराव देवकर , दिलीप वाघ , रविंद्र पाटील , संजय गरुड़ , अभिषेक पाटील तथा अन्य मान्यवर मौजूद रहे .