Home खानदेश समाचार पुलिस एफडीए के उदासीनता दोंडाईचा में खुलेआम प्रतिबंधित गुटखा बिक्री-लाखों के गुटखा...

पुलिस एफडीए के उदासीनता दोंडाईचा में खुलेआम प्रतिबंधित गुटखा बिक्री-लाखों के गुटखा समेत दो गिरफ्तार

488
0
SHARE

पुलिस एफडीए के उदासीनता दोंडाईचा में खुलेआम प्रतिबंधित गुटखा बिक्री-लाखों के गुटखा समेत दो गिरफ्तार

दोंडाईचा (जुनेद शेख ): पुलिस और फ़ूड एंड ड्रग विभाग ने संयुक्त कार्रवाई कर लाखों रुपए का प्रतिबंधित पान मसाला गुटखा जब्त किया है। ज़िले समेत दोंडाईचा शहर में विमल गुटखा भले ही पिछले कुछ सालों से राज्य में प्रतिबंधित है, लेकिन दोंडाईचा शहर में खुदरा दुकानों में इसकी अवैध तस्करी की जा रही थी।एफडीए ने एक लाख रुपये की अवैध तंबाकू विमल गुटखा जब्त कर दो युवकों को गिरफ्तार किया है।
फूड एंड ड्रग्स विभाग के अस्पताल में दोंडाईचा पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत शिकायत में बताया है कि पड़ोसी गुजरात से कुछ युवकों विमल नामक तंबाकू गुटखा बिना अनुमति के सीमा से बड़ी मात्रा में तस्करी कर धुलिया दुनिया जिले के विभिन्न स्थानों और दोंडाईचा शहर के आसपास के क्षेत्रों में खुदरा पान दुकानदार और अन्य दुकानदारों को बिक्री करने की सूचना मिली तदनुसार, स्थानीय पुलिस की मदद से शाम को दोंडाईचा शहर की ओर जाने वाले मार्ग पर कड़ी नजर रखी गई.ठीक आठ बजे नंदुरबार महा मार्ग स्थित 132 के वी के पास शैलेश ब्रिजलाल भावसार (34) के कब्जे से सैतालीस हजार रुपये का प्रतिबंधित पान मसाला गुटखा जप्त किया गया है।
फ़ूड एंड ड्रग विभाग में दूसरी घटना में छापेमारी कर केशरानंद पेट्रोल पंप समीप शकील खान जावेद खान मन्यार (23) से 52000 हजार रुपए का अवैध बिमल गुटखा जब्त किया है।
दोंडाईचा पुलिस थाने में इंस्पेक्टर दुर्गेश तिवारी के मार्गदर्शन में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए हैं. दोनों छापेमारी में थाने के सिपाही योगेश पाटिल, राकेश खांडेकर, मुकेश अहिरे और संदीप कदम ने भी सहयोग किया.

दोंडाईचा शहर में पुलिस और एफडीए विभाग की उदासीनता के कारण महाराष्ट्र प्रतिबंधित पान मसाला गुटखा 5 दुकानों से लेकर किराना दुकानों तक अमृत की तरह खुलेआम बिक्री किया जा रहा है इसका सेवन का युवा नसल बर्बाद हो रही है ।बड़े पैमाने पर गुजरात से गुटखा तस्करी की जा रही है। इस गोरखधंधे में पुलिस एफडीए स्थानीय राजनेता भी शामिल है जिसके कारण पुलिस और एफडी विभाग इन पर कार्रवाई करने से परहेज कर रहा है किंतु इस मामले में शिकायतकर्ता मजबूत होने से एक दिए और पुलिस को मजबूरन तस्कर के खिलाफ कार्रवाई करना पड़े भविष्य में इसी प्रकार कार्रवाई करने की मांग स्थानीय नागरिकों के द्वारा की जा रही है।