Home प्रदेश NCP-BJP के बीच श्रेय की बलि चढ़ा गरीबों का आशियाना, प्रधानमंत्री आवास...

NCP-BJP के बीच श्रेय की बलि चढ़ा गरीबों का आशियाना, प्रधानमंत्री आवास योजना का ड्रा रद्द

168
0
SHARE
पिंपरी (तेज समाचार डेस्क). सत्तादल भाजपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस के बीच छिड़ी श्रेयवाद की लड़ाई में प्रधानमंत्री आवास योजना के घरों का ड्रा सोमवार को अचानक रद्द कर दिया गया. इस पर योजना के लाभार्थियों ने प्रशासन और सत्तादल की कड़े शब्दों में निंदा की.
उपमुख्यमंत्री व पालकमंत्री अजीत पवार की बजाए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के हाथों ड्रॉ आयोजित किये जाने से नाराज राष्ट्रवादी कांग्रेस ने राजशिष्टाचार का पालन न करने का आरोप लगाकर काले झंडे दिखाए. वहीं अचानक से ड्रा रद्द करने के फैसले से नाराज भाजपा ने पिंपरी चिंचवड़ मनपा मुख्यालय में आयुक्त श्रावण हार्डिकर के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते हुए आयुक्त का धिक्कार किया.
– सस्ते घरों का सपना चकनाचूर
सस्ते घरों को लेकर शहरवासियों का सपना साकार करने के लिहाज से मनपा की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आज 3664 घरों का ड्रॉ घोषित किया जाना था. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चर्रहोली में 1442, रावेत में 934 और मोशी बोर्हाडेवाडी में 1288 घरों का निर्माण किया जा रहा है. इस योजना के तहत मिले 47 हजार 878 में से 47 हजार 801 आवेदन पात्र साबित हुए हैं.
चर्होली की परियोजना का काम अभी मात्र 15 फीसदी और बोर्हाडेवाडी परियोजना का काम 25 फीसदी पूरा हुआ है. रावेत परियोजना का काम अदालती फेरे में फंसा हुआ है. इसके बावजूद ड्रा निकालने की जल्दबाजी की जा रही है. योजना का काम अभी सिर्फ ड्रा तक ही पहुंचने के बावजूद भाजपा और राष्ट्रवादी के बीच श्रेयवाद की लड़ाई छिड़ गई है.
अजीत पवार के हाथों ड्रा निकालने की राकां की मांग थी
यह ड्रॉ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के हाथों और उपमुख्यमंत्री व जिले के पालकमंत्री अजित पवार की मौजूदगी में निकालने की घोषणा महापौर ऊषा ढोरे ने की थी. इससे नाराज विपक्ष के नेता राजू मिसाल ने उपमुख्यमंत्री पवार के हाथों ड्रॉ निकालने की आग्रही मांग के साथ भाजपा को राजशिष्टाचार का पालन करने की सलाह दी.
इस पर पलटवार करते हुए सभागृह नेता नामदेव ढाके ने राष्ट्रवादी को याद दिलाया कि जब पुणे जिले के पालकमंत्री गिरीश बापट थे तब उन्हें राजशिष्टाचार का ध्यान नहीं आया. उल्टे हमनें उपमुख्यमंत्री को पालकमंत्री के नाते मुख्य अतिथि के तौर पर निमंत्रित किया है.
अचानक ड्रॉ कार्यक्रम रद्द किए जाने की घोषणा
चिंचवड़ के प्रो रामकृष्ण मोरे प्रेक्षागृह में 11 जनवरी की दोपहर तीन बजे ड्रॉ घोषित रहने से लाभार्थियों की भीड़ दोपहर से ही इकट्ठा थी. अपने अल्टीमेटम के अनुसार राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम स्थान पर काले झंडे दिखाकर नारेबाजी की. इस हंगामे के बीच अचानक ड्रॉ का कार्यक्रम रद्द किए जाने की घोषणा की गई.
मनपा आयुक्त ने यह स्वीकार किया कि इस समारोह में राजशिष्टाचार का पालन नहीं हुआ.ड्रा रद्द करने के फैसले से नाराज भाजपा के पदाधिकारी और नेता सीधे मनपा मुख्यालय में मनपा आयुक्त के कार्यालय में पहुंचे.यहां खुद महापौर ऊषा ढोरे समेत सभी नेता जमीन पर बैठ गए और आयुक्त का धिक्कार किया.आयुक्त हार्डिकर ने यहां भी राजशिष्टाचार का पालन नहीं होने का हवाला देकर आवास योजना के लाभार्थियों और जनप्रतिनिधियों से माफी मांगी.इसके बाद यह हंगामा शांत हुआ.
प्रदर्शन करनेवालेकार्यकर्ता हिरासत में
प्रेक्षागृह के बाहर काले झंडे दिखाते हुए प्रदर्शन कर रहे राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है. इस आंदोलन में राष्ट्रवादी के शहराध्यक्ष संजोग वाघेरे, विपक्षी नेता राजू मिसाल, नगरसेवक राजू बनसोडे, प्रवीण भालेकर, नगरसेविका उषा काले, वर्षा जगताप, कविता खराडे, माधव मुळे आदि समेत कई कार्यकर्ता शामिल हुए थे. बहरहाल विपक्षी नेता मिसाल ने राष्ट्रवादी के आंदोलन को सफल बताया. यही नहीं उन्होंने राजशिष्टाचार का पालन न होने की सूरत में राष्ट्रवादी आगे भी आंदोलन करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here