Home प्रदेश जुकाम, बुखार से त्रस्त वृद्ध ने कोरोना के डर से लगाई फांसी

जुकाम, बुखार से त्रस्त वृद्ध ने कोरोना के डर से लगाई फांसी

140
0
SHARE

पिंपरी (तेज समाचार डेस्क). इन दिनो महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले मिल रहे हैं. महाराष्ट्र में भी पुणे इन दिनों कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. लोगों में कोरोना का डर छाया हुआ है. पुणे के पड़ौसी शहर पिंपरी चिंचवड़ के भोसरी ने बुखार, जुकाम और ठंड से ग्रस्त एक बुजुर्ग ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. इस बुजुर्ग को जब डॉक्टर ने कोरोना टेस्ट करवाने के लिए कहा तो डर के मारे का उस बुजुर्ग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मरने से पहले उसके लिखे सुसाइड नोट से यह जानकारी सामने आयी है. शुक्रवार की सुबह यह चौंकाने वाला मामला पिंपरी चिंचवड़ के भोसरी इलाके में सामने आया है. शिवाजी मारुती होलकर (67, निवासी गव्हाणे बस्ती भोसरी, पुणे) ऐसा आत्महत्या करनेवाले बुजुर्ग का नाम है.

जुकाम, बुखार से परेशान था बुजुर्ग
भोसरी पुलिस के अनुसार, भोसरी की गव्हाणे बस्ती में अपने परिवार के साथ रहनेवाले शिवाजी होलकर गत आठ दिन से ठंड, जुकाम, बुखार और खांसी से त्रस्त थे. उन्होंने पास के एक निजी डॉक्टर को दिखाया तो उसने उन्हें कोरोना का टेस्ट कराने की सलाह दी क्योंकि उनमें सभी लक्षण कोरोना के नजर आ रहे थे. आज तड़के उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

सुसाइट नोट में लिखा आत्महत्या का कारण
पुलिस को उनका लिखा सुसाइड नोट मिल गया है जिसमें उन्होंने कहा है कि आठ दिन से वे बीमार थे. जब डॉक्टर के पास गए तो उसने उन्हें कोरोना के लक्षण बताकर टेस्ट कराने की सलाह दी. कोरोना के डर से आत्महत्या करने और अपनी मौत के लिए किसी को भी जिम्मेदार न ठहराने की बात भी सुसाइड नोट में लिखी गई है. हालांकि वे किस डॉक्टर के पास इलाज के लिए गए थे और किसने उन्हें कोरोना टेस्ट करने की सलाह दी थी? इसकी जानकारी नहीं मिल सकी. भोसरी पुलिस छानबीन में जुटी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here