Home मध्यप्रदेश इंदौर: अपहरण के बाद छात्रा से गैंगरेप, बोरे में बंद कर जलाने...

इंदौर: अपहरण के बाद छात्रा से गैंगरेप, बोरे में बंद कर जलाने की कोशिश

277
0
SHARE
इंदौर (तेज समाचार डेस्क):  बुधवार को में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। वारदात के दौरान पांच बदमाशो ने योजना के तहत कोचिंग से घर आते समय पहले तो छात्रा का अपहरण किया फिर उसके साथ गैंगरेप कर चाकू से हमला बोल उसे घायल कर दिया। इतना ही नहीं दुष्कर्मियों ने छात्रा को बोरे में बंद कर उस पर घासलेट डालकर रेलवे पटरी पर फेंक दिया ताकि वो उसका जीवन समाप्त हो जाये लेकिन इसे छात्रा का साहस कहा जायेगा कि गम्भीर रूप से घायल होने के बावजूद उसने आवाज लगाना शुरू कर दी जिसे सुनकर मौके पर कुछ लोग पहुंच गए। इसके बाद युवती को बोरे से निकालकर उपचार के लिए एम.वाय. अस्पताल  भिजवाया गया फिलहाल, युवती का एम.वाय. अस्पताल में उपचार जारी है।
जानकारी के मुताबिक घटना बाणगंगा थाना क्षेत्र की है जहां गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। घटना, भागरीथपुरा इलाके में स्थित रेलवे ट्रैक के पास की बताई जा रही है। इस मामले में पीड़ित युवती ने पुलिस   को बताया है कि वह पाटनीपुरा क्षेत्र में कोचिंग पढ़ने जाती है मंगलवार शाम कोचिंग से लौटते समय उसे उसका एक दोस्त मिला और उसके साथ एक अन्य युवक भी था।
युवती का आरोप है कि दोनों ने ही बातों-बातों में उसे कुछ सुंघाया और बाइक पर बैठाकर भागीरथपुरा रेलवे ट्रैक के पास ले गए । रेलवे ट्रैक पर पहले से तीन लोग मौजूद थे, जो युवती के लाने का इंतजार कर रहे थे। सभी ने मिलकर युवती के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की और युवती के विरोध करने पर युवकों ने पीड़िता पर हमला कर बारी-बारी से रेप किया। युवती का आरोप ये भी है कि दुष्कर्म करने के बाद बदमाशों ने उस चाकू से हमला किया और बोरे में बंद कर उसे आग के हवाले करने की भी कोशिश की। इसके बाद सभी मौके से भाग गए । पुलिस ने देर रात एक आरोपी को पकड़ लिया है । एएसपी शशिकांत कनकने ने बताया कि पुलिस पूरी घटना की जांच जुटी है और सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। बता दे कि आरोपियों के मौके से भागने के बाद युवती चिल्लाई तब लोगो की मदद से वह जैसे-तैसे बोरे से बाहर आई और अपने परिजनों को वारदात की जानकारी दी जिसके बाद उसे एम.वाय. अस्पताल लाया गया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है वही पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 D, 365, 307 के तहत मुकदमा दर्ज किया।